Technology

भाषणः तकनीक कोई अलग विषय नहीं है

[ अनुपम मिश्र का ‘क’ कला संपदा एवं वैचारिकी द्वारा नागपुर में आयोजित सम्मेलन में दिया गया भाषण, दिसंबर दो हजार सात ]   मेरा जो परिचय आपने सुना उसमें कोई तकनीकी शिक्षा का आपको आभास नहीं मिलेगा। फिर भी… Read More ›

उर्वरता की हिंसक भूमि

सन् १९०८ में हुई एक वैज्ञानिक खोज ने हमारी दुनिया ही बदल दी है। शायद ही किसी एक आविष्कार का इतना गहरा असर इतिहास में हो। आज हम में से हर किसी के जीवन में इस खोज का असर सीधा… Read More ›

मनसंपर्क का कंप्यूटर उबुंटु

सोपान जोशी [ इस लेख का संपादित रूप नई दिल्ली के गांधी शांति प्रतिष्ठान की पत्रिका “गांधी मार्ग” के नवंबर–दिसंबर 2011 के अंक में छपा है ] धूप से तपते हमारे जीवन के रास्ते में गांधीजी एक घने पेड़ हैं। उनकी… Read More ›

राग जॉब्स का अतिशयोक्ति रस

[ इस लेख का संपादित रूप दैनिक भास्कर के 13 अक्टूबर 2011 के दिल्ली संस्करण में छपा था ] ऐसा एक ही बार हुआ कि ऐपल कंपनी का बनाया कुछ खरीदने की मेरी इच्छा हुई। एक कंप्यूटर दिखा था दिल्ली… Read More ›